समाचार विवरण  
 Mail to a Friend Print Page   Share This News Rate      
Save This Listing     Stumble It          
 

 भाजपा की पहचान बने मुद्दों पर मध्‍यप्रदेश की कमलनाथ सरकार का मास्टर स्ट्रोक (Thu, Jan 31st 2019 / 10:29:59)

ध्यप्रदेश

छत्तीसगढ़

प्रदेश

देश

विदेश

खेल

मनोरंजन

बिज़नेस

टेक्नोलॉजी

धर्म

राशिफल

फोटो

विचार

होम ⁄ मध्यप्रदेश ⁄ भोपाल

भाजपा की पहचान बने मुद्दों पर मध्‍यप्रदेश की कमलनाथ सरकार का मास्टर स्ट्रोक
Publish Date:Wed, 30 Jan 2019 11:25 PM (IST)

शुरू से धर्म-अध्यात्म भाजपा की सुविधा का विषय रहे हैं। लंबे अरसे से कांग्रेस इस मुद्दे पर बैकफुट पर खड़ी नजर आती थी।

ऋषि पाण्डे, भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भाजपा पर बुधवार को कसे गए इस तंज पर गौर कीजिए। 'मुझे बड़ा दुख होता है कि जो लोग खुद को गोरक्षक कहते थे, उन्होंने 15 सालों में एक भी गोशाला का निर्माण नहीं किया।'


इस तंज में दम भी है और उन्हें इसका हक भी, क्योंकि उनकी सरकार मंगलवार को एक हजार गोशालाओं के निर्माण को मंजूरी दे चुकी है। जहां एक लाख निराश्रित गोवंश को ठौर ठिकाना मिलेगा, जो अभी सड़कों पर भटकते रहते हैं। गोशाला अकेला मुद्दा नहीं है। ऐसे और भी कई मामले हैं, जहां कांग्रेस सरकार भाजपा के पर्याय बने मुद्दों पर उसे चित करते नजर आती है।


मध्‍यप्रदेश में सात साल में बांटा जमकर ऋण पर कोई रिकॉर्ड ही नहीं
यह भी पढ़ें

शुरू से धर्म-अध्यात्म भाजपा की सुविधा का विषय रहे हैं। लंबे अरसे से कांग्रेस इस मुद्दे पर बैकफुट पर खड़ी नजर आती थी, लेकिन 'वक्त है बदलाव का' के नारे के साथ ही सूरते हाल भी बदला है। अब कांग्रेस भी बढ़-चढ़कर धर्म-अध्यात्म के मुद्दों पर सक्रिय दिखती है। सरकार बनते ही जिस तरह कमलनाथ सरकार के मंत्रियों ने शुभ मुहूर्त में विधि-विधान के साथ पूजा-पाठ करते हुए कुर्सी संभाली वह देखने लायक था। कमलनाथ सरकार ने आते ही पहला छक्का मारते हुए अध्यात्म के नाम पर एक पृथक महकमा ही बना डाला।

मध्य प्रदेश इकलौता ऐसा प्रदेश होगा, जहां अध्यात्म सरकारी महकमा बना। इस महकमे को नर्मदा न्यास, मंदाकिनी और क्षिप्रा नदी के न्यास के गठन, मध्य भारत गंगाजलि निधि न्यास, पवित्र नदियों को जीवित इकाई बनाने के संबंध में कार्रवाई करने, राम वन गमन पथ में पड़ने वाले अंचलों का विकास सहित धर्मस्व और आनंद विभाग के सारे काम सौंपे गए। इससे वह सारे साधु-संत कांग्रेस के ज्यादा नजदीक आ गए, जो किसी न किसी वजह से भाजपा सरकार से नाराज चल रहे थे।


पंचायतों की मतदाता सूची बनाने में लापरवाही पर अब हो सकती है जेल
यह भी पढ़ें

सरकार लोगों की धार्मिक भावनाओं का कितना कद्र करती है, यह संदेश देने के लिए उज्जैन कमिश्नर और कलेक्टर को हटाने में जरा-भी विलंब नहीं किया गया। उनका अपराध यह था कि शनिश्चरी अमावस्या पर शिप्रा नदी सूखने के कारण श्रद्धालुओं को कीचड़ मिले पानी से स्नान करना पड़ा था। लोगों की धार्मिक आस्था के साथ खिलवाड़ को गंभीरता से लेते हुए कमलनाथ ने मुख्य सचिव से जांच कराई और दोनों अफसरों को मंत्रालय में बैठा दिया।

ताजा मामला गोशालाओं का है। मंगलवार को कमलनाथ सरकार ने पूरे राज्य में एक हजार गोशालाओं के निर्माण का फैसला लिया है। इसमें एक लाख निराश्रित गोवंश की देखरेख की जाएगी। इसके लिए सरकार ने कुल 450 करोड़ रुपये के बजट का प्रावधान किया है। कमलनाथ को बैठक में जब यह बताया गया कि पूरे राज्य में एक भी सरकारी गोशाला नहीं है तो वह चकित रह गए। इसलिए उन्हें यह कहने को मजबूर होना पड़ा कि गोरक्षक होने का दंभ भरने वाले 15 साल में एक भी गोशाला नहीं बना पाए।


नए DGP वीके सिंह बोले- आईएएस, आईपीएस या नेता की संतुष्टि के लिए नहीं पुलिस
यह भी पढ़ें

मंत्रियों संग मुख्यमंत्री लगाएंगे गंगा में डुबकी

अगले माह मुख्यमंत्री कमलनाथ अपने कुछ मंत्रियों के साथ कुंभ (प्रयागराज) जा रहे हैं, जहां वह गंगा में डुबकी लगाएंगे। इतना ही नहीं, राम वन गमन पथ के लिए सरकार अगले कुछ दिन में बड़ी घोषणा कर सकती है।


Cold day : मध्‍यप्रदेश में लगातार तीसरे दिन शीतलहर, फसलों पर पाले की आशंका
यह भी पढ़ें

हम प्रचार में नहीं, काम में भरोसा करते हैं

भाजपा धर्म के नाम पर ढकोसला और प्रचार करती है, जबकि हम उनसे ज्यादा धार्मिक हैं, लेकिन दिखावा नहीं करते। कुंभ मेले में मध्य प्रदेश सरकार की ओर से जो पंडाल लगाया जा रहा है, वहां प्रदेश के कथावाचक श्रद्धालुओं को कथा सुनाएंगे। प्रदेश के शास्त्रीय कलाकार भी वहां कला का प्रदर्शन करेंगे।

 
  समान समाचार  
दिग्विजय सिंह का बयान- आईएसआई से बजरंग दल और भाजपा ले रही पैसा
दिग्विजय की 'गुगली’ : 25 साल के युवा को सौंपे कमान
कमलनाथ बोले- सिंधिया हमारे साथ, समर्थकों ने दी इस्तीफे की धमकी
अमित शाह आरएसएस की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा में शामिल होने ग्वालियर पहुंचे, दो दिन रहेंगे
पूर्व मुख्यमंत्री गौर को दिग्विजय का ऑफर; कांग्रेस के टिकट पर भोपाल से लड़ें लोकसभा चुनाव
लोकसभा चुनाव में मध्‍यप्रदेश में पुराने नेताओं को फिर आजमा सकती है भाजपा
कांग्रेस में शामिल होने के लिए संपर्क में कई भाजपा विधायक
भाजपा लड़ेगी स्पीकर का चुनाव, विजय शाह को बनाया उम्मीदवार, देंगे एनपी प्रजापति को टक्कर
MP: बीजेपी की 177 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी, इतने विधायकों और मंत्रियों के कटे टिकट
मध्यप्रदेश चुनाव 2018: हर विधायक के पास है औसत सवा पांच करोड़ रुपए की संपत्ति
राहुल गांधी की मौजूदगी में कांग्रेस में शामिल हुए बीजेपी के कद्दावर विधायक
राहुल का आरोप- पनामा पेपर्स में सीएम के बेटे का नाम; शिवराज के बेटे ने किया मानहानि का केस
आज की तस्वीरें  
सभी फोटो गैलरी देखें
 
समाचार चैनल  
स्थानीय ख़बरें
राजनीति
खेल खबर
स्वास्थ्य
उद्योग-व्यापर
अपराध
योग-व्यायाम
जीवन शैली
धर्म-आस्था
राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय
रोजगार-कैरियर
मनोरंजन
न्यायालय-आदेश
अनुसंधान-प्रयोग
सरकार-शासन
गैजेट&ऑटोमोबाइल
अजब गजब
 
राज्य समाचार  
मध्य प्रदेश
 
राशिफल   
 
लाइव अपडेट  

Advertise With Us

संपकॆ करेॆ-
Bhupendra Singh
प्रधान संपादक
Super Fast News
mob.: +8819917385
             7000772733

bhupendranews11@gmail.com
अपना सन्देश लिखें:

 
 
 
 
 
होम  | अजब गजब  | राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय  | मनोरंजन  | न्यायालय-आदेश  | योग-व्यायाम  | रोजगार-कैरियर  | अपराध  | जीवन शैली  | स्वास्थ्य  | स्थानीय ख़बरें  | खेल खबर  | धर्म-आस्था  | अनुसंधान-प्रयोग  | उद्योग-व्यापर  | सरकार-शासन  | राजनीति  | गैजेट&ऑटोमोबाइल  | जम्मू और कश्मीर  | पश्चिम बंगाल  | त्रिपुरा  | आंध्र प्रदेश  | नगालैंड  | मध्य प्रदेश  | छत्तीसगढ़  | असम  | अरुणाचल प्रदेश  | उत्तरांचल  | हिमाचल प्रदेश  | दिल्ली  | अंडमान एवं निकोबार  | पांडिचेरी  | राजस्थान  | मेघालय  | दादरा और नगर हवेली  | गोवा  | पंजाब  | उड़ीसा  | मणिपुर  | हरयाणा  | सिक्किम  | बिहार  | लक्षद्वीप  | कर्नाटक  | मिजोरम  | केरल  | तमिलनाडु  | दमन और दीव  | महाराष्ट्र  | उत्तर प्रदेश  | झारखंड  | नियम एवं शर्तें  | गोपनीयता नीति  | विज्ञापन हमारे साथ  | हमसे संपर्क करें
superfastnews.co.in Copyrights 2016-2017. All rights reserved. Design & Development By MakSoft
 
Hit Counter